Home » How To Learn English At Home | इंग्लिश बोलना कैसे सीखे?

How To Learn English At Home | इंग्लिश बोलना कैसे सीखे?

    आज के समय में अंग्रेजी (English) बोलना कैसे सीखें? – How To Learn Fluent English Speaking – Hindi या फिर English Bolna Kaise Sikhe In Hindi ये सभी ऐसा Questions बन गए है जो की Internet पर सबसे ज्यादा Search किए जाते हैं। अंग्रेज़ी (English) पढ़ना और लिखना तो लगभग सबको आ ही जाता है लेकिन English बोलना या एकदम Fluent English Speaking करना हर किसी के लिए उतना आसान नहीं हो पाता है और इसके कारण से कभी कभी तो ऐसे लोगों को शर्मिंदा तक होना पड़ जाता है।

    अगर कोई इंसान बिल्कुल Fluent English बोलना जानता है तो बाकी लोगों पर उसकी एक अलग ही Image बन जाती है और वहीं एक अलग ही तरह की Respect भी होती है। अंग्रेज़ी (English) आज के Time में Personality का एक अच्छा Standard बन चुकी है। जैसे की अगर कोई इंसान Highly Educated करने के बावजूद भी ठीक तरह से English नहीं बोल पाता है तो लोग उसे बोल ही देते हैं कि इतना Educated होने का क्या ही फ़ायदा जो तुम अभी भी अच्छे ढंग से अंग्रेज़ी (English) तक नहीं बोल पा रहे हो? इसीलिए अगर आपके साथ भी ऐसा ही होता है या आप ठीक तरीके से English नहीं बोल पाते हैं तो अब घबराने की ज़रूरत बिल्कुल भी नही हैं, क्योंकि मैं आज के Article अंग्रेजी (English) बोलना कैसे सीखें? में आप सभी को How To Learn Fluent English Speaking – Hindi के बारे में काफी बढ़िया-बढ़िया तरीके बताने वाला हूं, जिन्हे अगर आपने अपनी Life में उतार लिया तो जल्द ही आप भी बाकी लोगों की ही तरह फर्राटेदार English बोलना सीख जाओगे।

    How To Learn English At Home
    How To Learn English At Home

    इंग्लिश बोलना सीखने के लिए 10 BEST तरीके | 10 Easy Ways To Learn English Speaking In Hindi

    जो बच्चे शुरू से ही English Medium Schools में पढ़ते आते हैं उनको अंग्रेज़ी (English) बोलने, पढ़ने और लिखने में ज्यादा परेशानी तो नहीं आती है। मगर ये भी जरूरी नहीं है कि वे सभी के सभी बच्चे English को बिल्कुल Fluently बोल सकें। English Reading, Writing और Speaking ये सभी ही अलग अलग बातें हैं। और वहीं Hindi Medium से पढ़े हुए बच्चों की English के हर मामले (यानी की Reading, Writing और Speaking) में हाथ तंग ही रहता है। लेकिन अंग्रेज़ी (English) सीखना कोई इतना भी कठिन काम नहीं है कि आप उसे सीख ही ना पाओं।

    आपको इसके लिए थोड़ी मेहनत निष्ठा और लगन के साथ English  को सीखना होगा। और ऐसे में आप बहुत जल्दी ही अंग्रेज़ी (English) भाषा को बोलना सीख जाएंगे। अगर आपको भी अंग्रेज़ी में बोलना नहीं आता है और मगर आप अंग्रेज़ी में बोलना चाहते हैं तो मैं यहां आपके लिए इंग्लिश बोलना सीखने के लिए 10 BEST तरीके बता रहा हूं जिन्हें आप अपने अंदर Adopt करके बहुत जल्दी ही Fluently English बोलना सीख सकते हैं।

    Motivate करें खुद को:

    जो इंसान अंग्रेज़ी नहीं जानते हैं। उन्हें ये लगता है कि English बोलना व सीखना बहुत ही कठिन काम है। या इसको सीखने में काफी ज़्यादा Time लगता है। या कुछ लोग Starting में तो बड़े ही Energy के साथ English Speaking और Learning शुरु कर देते हैं मगर कुछ Time के बाद उनके अंदर की ये Energy खत्म होने लग जाती है। वे धीरे-धीरे अंग्रेजी को सीखते हुए फिर से अपने Comfort Zone में ही यानी की हिन्दी पर ही वापिस आ जाते है। और उनका अंग्रेज़ी (English) सीखने का जो Interest बना हुआ होता है वो कम होने लग जाता है।

    तो इसलिए सबसे पहले तो आप English को बिल्कुल भी कठिन काम न समझें। दूसरा ये कि आप अपने Interest को भी कम मत होने दीजिए, जब भी आपको ऐसा Feel हो कि आपका Interest कम होता जा रहा है और आप वापिस से हिन्दी की तरफ ही आ रहे हो तो खुद को ऐसे में Attentive कर लें। और खुद से ये Words कहना शुरू कर दें

    “मुझे अंग्रेज़ी हर हालत में बोलना सिखना है, सिखना है और ज़रूर से बोलना सिखना ही है”

    और इन Words को अब आपको कम से कम 5 Times बोलना होगा, और फिर से English बोलना सीखने में जुट जाना है। और उपर बतायी गयी सभी बातों को बिल्कुल भी मजाक के तौर पर ना लें। ये Lines आपके सच में काफी ज़्यादा काम में आ सकती हैं।  आप अपनी Life में चाहें कोई भी काम कर रहे हों, जब भी उससे आपका मन Bore होने लगे या फिर आपके अंदर का Motivation Level Down होने लग जाए तो इन Lines को भी आपको 5 Times ज़ोर-ज़ोर से बोलना चाहिए। “मुझे ये Work हर हाल में करना है, करना है और मतलब करना ही है।“ फिर देखिये इसके बाद कैसा Magic होता है।

    खुद का एक Goal Set कर लें:

    किसी भी Work को पूरा Complete करने के लिए आपको उससे पहले एक Goal बनाना बहुत Important है। बिना Goal को Set किए आप उस Work को बिल्कुल भी Complete नहीं कर सकते हैं। उसी तरह से अंग्रेज़ी (English) की Situation में भी ऐसा ही है। आपको अंग्रेज़ी को सीखने के लिये भी अपना एक Goal Set करना होगा। जैसे की आपको कितने Days के अंदर English को सीखना है? इस प्रकार से ये बात ध्यान रखें कि English आपको एकदम से या 2-3 दिन में ही बोलनी नहीं आ जाएगी।

    इसे सीखने में आपको समय लगेगा। आप 3 महीने का अपना Goal Set कर सकते हैं। जैसे की मुझे 3 महीने में English हर हाल के अंदर सीखनी ही है। फिर अपने Set हुए Goal के According ही अपनी तैयारी को Start कर दें और ख़ुद को तब तक ना रोकें जब तक की आप English को बेहतर ढंग से बोलना ना सीख जाएं। अगर किसी कारण से कुछ Time का Break हो भी जाए तब भी ऐसे में निराश बिल्कुल भी न हों। अपनी पूरी Energy के साथ एक बार फिर से Ready हो कर शुरू कर दें।

    Daily 10 New Words को पढ़े व याद करें:

    एक Rule बना लें कि आपको Daily 10 New Words को पढ़ना और सीखना ही हैं। अगर आप ऐसा कर पाते हैं तो 3 Months में आप करीब 900 Words के बारे में सीख और समझ जाएंगे। इसमें आप Dictionary की Help भी ले सकते हैं। अगर हो पाए तो अपने साथ एक छोटी सी Pocket Diary को भी रखा करें और रोज़ के Words को उसमें Note करते जाएं। जिससे की आप इनको रोज़ाना Read कर सकें और Learn भी कर सकें। अगर आपके पास एक Pocket Diary नहीं हैं तो ऐसे में आप अपने Mobile में ही कोई File Create कर लें। जहाँ आप ये Daily के Words आसानी से लिख सकें।

    मगर वो File किसी ऐसी जगह पर होनी चाहिए जो आसानी से Access हो पाए और उसको Find करने में किसी तरह की कोई भी दिक्कत ना हो। इसके लिए या तो आप अपने E Mail के Draft Section में कोई File बनाकर उसे Save कर लें या WhatsApp पर किसी ना काम आने वाले Number को (जो की ON न रहता हो) उस पर Save करके वहीं पर एक Message Send कर दे। इससे आपके Message कहीं और नहीं जाएंगे जबकि एक ही जगह पर Save होते जाएंगे। जिन्हें आप कभी भी अपने According आसानी से देख सकते हैं।

    English में ही सोचना शुरु कर दें:

    जब कभी भी हम किसी तरह का कोई काम करते हैं या करना चाह रहें होते हैं तो अपने Mind में उस काम के बारे में बार-बार सोचते जाते हैं। और यहाँ पर ध्यान देने वाली बात यह है कि हम हमेशा से ही उसके बारे में हिन्दी में ही सोचते हैं। जैसे की मान लें कि कल Morning में 10 बजे आपका Interview होने वाला है तो आप इसके लिए हिन्दी के अंदर ही ज़रूर से सोचेंगे। जैसे की

    कल मुझे 6 बजे तक उठना है।

    7 बजे तक नाश्ता करना है और फिर तैयार हो जाना है।

    8 बजे तक Interview की सारी तैयारी कर लेनी है।

    10 बजे तक मुझे Interview की Place पर पहुंच जाना है।

    आप ये सब आप हिन्दी में इसलिए सोचते हैं क्योंकी आपके Mind को हिन्दी में ही सोचने की Habit है और फिर आम तौर पर आप बोलते भी हिन्दी में ही हैं। इसलिए अगर आप इन सारी बातों को English में ही सोचने लग जाएंगे। जैसे की

    Tomorrow I have to get up by 6 o’clock.

    Have breakfast by 7 o’clock and then get ready.

    By 8 o’clock, all the preparations for the interview have to be done.

    By 10 o’clock I have to reach the place of interview.

    अब अगर आपने ये सब English में ही सोच लिया होता तो सोचो इसका क्या Effect पड़ता। आपका आत्मविश्वास एकदम से Increase हो जाता। ये भी हो सकता है कि आप ये सब अंग्रेज़ी में सोच ही ना पाएं। क्योंकि आपको अंग्रेज़ी में सोचने की उतनी Habit ही नहीं है। इसलिए आप जो भी Work करो या जो भी सोचो, उसे अंग्रेज़ी के अंदर ही सोचना Start कर दें। हो सकता है, Starting में आपको कुछ Time तक दिक्कत हो। लेकिन अगर आप Try करते रहेंगे। तो ऐसे में धीरे-धीरे ये आपकी एक Habit बन जाएगी।

    आप कहीं पर भी क्यों न हों, चाहे कुछ भी काम कर रहे हों, बस English में ही सोचें। आप अपने रास्ते में चाहें कहीं भी जा रहे हो या कुछ भी देख पा रहे हो तो उसके बारे में आपको English में ही सोचना होगा। अगर आपको कोई Word याद नहीं आ रहा है या फिर आपसे Grammatical Mistakes हो रही हैं तो ऐसे में उन्हे होने दें। उससे परेशान न हों। धीरे-धीरे जब आप English को समझने लग जायेंगे, तो आपकी ऐसी Mistakes अपने आप ही कम होने लग जाएंगी।

    English में ही Reading और Listening शुरू कर दें:

    English Learning का सबसे बेहतरीन तरीका है English में ही Read करना। और जिसके लिए आपको अंग्रेज़ी का News Paper पढ़ना चाहिए। क्योंकि न्यूज Papers में Daily नई ख़बरें ही आती हैं और जिससे की आप Daily नए-नए Words भी पढ़ सकते हैं। आप अंग्रेज़ी भाषा में अपने Favorite Subject की कोई भी किताब पढ़ सकते हैं।

    और वहीं दूसरी तरफ English Speaking सीखने का दूसरा सबसे बेहतरीन तरीका है। English में Listening करना। Listening से आपका Pronunciation ठीक होता है। Words को कैसे बोला जाता है ये सब मालूम चलता है। इन सबके लिए आप English Movies या फिर Web series देख सकते हैं, English गाने भी सुन सकते हैं, YouTube के अंदर English में कोई भी किसी भी तरह की Video को आप देख सकते हैं। अगर आपको उसे समझने में कोई भी परेशानी होती है तो, ऐसे में English Subtitles वाली हिन्दी भाषा के अंदर Dubbed Movie भी ज़रूर से देख सकते हैं।

    इसे सीखने का एक Environment Create करे:

    एक छोटा बच्चा बिना School जाये, या बिना Books पढ़े, हिन्दी बोलना सीख ही जाता है। क्योंकि वह ऐसे Environment में रह रहा होता है, जहाँ हर Time उसके सामने हिन्दी ही बोली जाती है। वह अपने बड़ों से हिन्दी सुनकर ही सीख पाता है और फिर बोलता भी है। इसलिए किसी भी चीज़ की Learning के लिए ऐसे Environment में रहना बहुत ही ज़्यादा जरूरी है। इसलिए अपने आस – पास English को सीखने का माहौल बनायें।

    अपने घर के अंदर अपने Brother या Sister के साथ या फिर अपने Family Members के साथ अंग्रेज़ी में बात किया करें। अपने Friends से, School व Colleges और अपने Working Place पर भी English में ही बात करें। अपने Friends के साथ आप किसी भी एक Topic पर Group Discussion भी कर सकते हैं। या फिर किसी भी Topic को खुद से लेकर उस पर 10-15 Lines अंग्रेज़ी (English) में बोलने की कोशिश करें।

    Translation की मदद न लें:

    अक्सर जिन लोगों को अंग्रेज़ी बोलना नही आता है या फिर वे कम ही बोल पाते हैं और उन्हे अगर कभी अंग्रेज़ी बोलनी भी पड़ जाये तो ऐसे में उन्हें जो कुछ भी बोलना होगा, वो पहले उसके बारे में हिन्दी में ही सोचेंगे। फिर उस Line को अपने Mind में English के अंदर Translate कर के बोलेंगे, बस अक्सर ये Mistake लोग करते ही हैं। इससे वे Translation में तो अच्छे हो सकते हैं मगर कभी भी English ठीक से नहीं बोल पाएंगे। क्योंकि अगर आपको किसी Place पर Use करने के लिये कोई Word नही मिलता तो आप ऐसे में उस Situation में अटक जायेंगे। और अगर बार बार आप इसी तरह से अटकेंगे तो आपकी English Fluent कैसे बन पाएगी?

    इसलिए आप उसे हिन्दी ही में सोचकर उसे English में Translate बिल्कुल भी ना करें। आप अंग्रेज़ी में ही सोचें और अंग्रेजी में ही बोलें। अगर आप इसमें गलत भी बोल रहे हैं, तो भी बोलते रहें, रुके बिल्कुल भी नहीं, मायूस भी ना हों। क्योंकि आपके सामने खड़ा इंसान भी आपके जैसा ही एक इंसान ही है। अगर आप आज गलत बोल रहे हैं तो कल आप ज़रूर से सही भी बोलेंगे।

    English के Phrases सीखने की कोशिश करें:

    ज्यादातर लोग English को सीखते Time Vocabulary पर बहुत अधिक ही ध्यान देते हैं। और बहुत ही ज्यादा Words को Learn कर लेते है। अधिक से अधिक Words को सीखना और याद रखना तो अच्छी बात है। लेकिन अगर आप Words के Use से एक भी Sentence Create नही कर पाते हैं तो, उनका कोई भी Benefit आपको नहीं है। इसके लिए आप English के Phrases को सीख सकते हैं।

    अगर आप 100 Words भी जानते हैं तो ये मुमकिन है कि आप ऐसे में एक भी Sentence नही बना पाओगे। परंतु अगर आप एक English का Phrase भी जानते हैं तो आप उससे 100 Sentences तक बना सकते हैं।

    English बोलने की Loud Voice में Practice करे:

    आप अंग्रेज़ी (English) में जो भी Read करे, उसे हमेशा बोल-बोल कर ही Read करें। चाहें आप जो भी Read करें, सुने या फिर देखें, उसको Loud Voice बोल-बोल कर ही Practice करें। Words के सही Pronunciation का अभ्यास करें। 3-4 Minutes तक किसी एक विषय पर लगातार बोलें। फिर चाहे वो Right हो या फिर Wrong बस आपको बोलते रहना है। फिर अपनी Mistakes को सुधारें और एक बार फिर से बोलें। आप इसके लिए Tongue Twisters से भी Practice कर सकते हैं। Tongue Twisters आपके Pronunciations को भी ठीक करते हैं।

    एक तस्वीर लेकर उससे English की Lines बनाइए:

    Daily आपको एक तस्वीर लेनी है और उसे देखकर 10-15 Lines English के अंदर आपको बोलनी होगी। तस्वीर को देखकर अपने मन में एक Story को Create कीजिए। आपको वो Story अंग्रेज़ी में ही सोचनी है और अंग्रेज़ी में ही Create भी करनी है और फिर उसे अंग्रेज़ी में ही बोलना होगा। इसको आपको Daily की एक Habit बना लेनी है। जिससे की आप खुद देखेंगे की आपको एक अच्छी English Speaking में काफी मदद मिलेगी।

    Why It Is Important to Learn English Speaking – Hindi | English सीखना क्यों ज़रूरी है? | Reasons of Learning Fluent English in Hindi

    हम सभी लोग India के निवासी हैं और यहीं पर ही पैदा भी हुए हैं और हिन्दी हम सभी की Mother Tongue है। India के अधिकतर Areas में हिन्दी ही बोली और समझी जाती है। फिर भी यहां हिन्दी को उतनी Importance नहीं दी जाती है जितनी की English को दी जाती है। Actually English आज एक Global Language  बनी हुई है। जो लगभग हर Country में बोली और समझी दोनों जाती है।

    आज Country के हर कोने में English को बोला जाने लगा है। हर बड़ी से बड़ी MNC Company में नौकरी पाने के लिए आज के Time में English का आना बेहद Important हो गई है। इसलिए आइए देखते हैं कि आज के Time में English Learning इतना जरूरी क्यों हो गया है?

    आपके Personal Development के लिए:

    आप चाहे Doctor हों, या फिर Engineer हो, या कोई और Professional Field में Work करने वाले, आपको खुद के Profession के अंदर हर तरह के इंसानों के साथ बात करनी ही होती है। मान लीजिए की अगर आप एक Engineer हैं और किसी से अंग्रेज़ी में बात नही कर पा रहे हैं, तो उसके बाद आपको काफी ज़्यादा शर्मिंदगी भी Feel होगी, वैसे तो सिर्फ अंग्रेज़ी (English) से ही आपकी Personality का Development नहीं हो पाएगा, लेकिन अगर आप एक Fluent तरीके से English बोलने वाले इंसान हैं, तो ऐसे में आपकी Personality में चार चाँद लग जानें में बिल्कुल देर नही लगेगी।

    आप काफी अच्छी अंग्रेज़ी (English) बोलते हैं तो ये आपके अंदर के Confidence Level को Increase कर देती है। कभी-कभी ऐसा भी हो जाता है कि आप किसी और State में नौकरी को पाने के लिए जाते हैं, जहां हिन्दी बोली नहीं जाती है और आपको वहां की Local Language भी बोलनी नहीं आती है, तब आपको वहाँ के लोगों से बातचीत करने में बहुत ही ज़्यादा परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

    Interview देने के लिए:

    आज के समय में चाहे आप एक Fresher हों या फिर कोई Experienced, या चाहे आपका College के अंदर Selection हो रहा हो या आपने किसी Company में खुद नौकरी के लिए Apply किया हो। Mostly हर बड़ी या छोटी Company के अंदर Interview अंग्रेज़ी भाषा में ही लिया जाता है। और जिस Company के अंदर Interview English Language में नहीं भी लिया जाता है, वहाँ भी ये Try किया जाता है कि चुने गए Candidate को English Speaking, Writing, Reading और यहां तक की उसे अच्छे से समझना आता ही हो।

    English Language आज के Time में Interview के लिए ज़रूरी तो हो ही गया है। जिससे की Interviewer को Candidate के अंदर की Communication Skills के बारे में भी मालूम चल जाता है। English Language में बात करने से Interview में बैठे Candidate के अंदर का Confidence Level भी पता चलता है। और उसके Confidence और Communication Skills के Basis पर ही उसका Interview में Selection होता है। जिसके कारण से Interview के लिए English Language को सीखना बहुत ज़्यादा Important हो ही गया है।

    Job को पाने के लिए:

    ज्यादातर सभी बड़ी-बड़ी Companies या फिर MNC Companies के अंदर नौकरी (Job) के लिए अच्छी English का आना ज्यादातर Compulsory ही होता है। या अगर आपको किसी को E-Mail करना हो, अपने किसी Client से Communicate करना हो, या किसी के भी सामने कोई Presentation को Present करना हो, हर Situation में आपको English Language का आना बेहद जरूरी ही हो गया है। बाहर की या कहें तो Foreign Companies की Job तो बिना Fluent English Speaking Qualities के तो आप बिल्कुल भी ले ही नहीं सकते हैं। किसी भी Company की Customer Care Service हो या फिर उसका Call Centre हो या BPO की नौकरी ही क्यों ना हो, हर जगह पर Fluent English Speaking तो Mostly Important हो ही गया है।

    English Speaking को सीखने के लिए किन बातों का ध्यान रखें? | Things To Keep In Mind While Learning Fluent English Speaking HINDI

    1. Fluent English Speaking को सीखना कोई बहुत ज़्यादा कठिन काम तो बिल्कुल भी नहीं है। इसे आप अपने Hard Work, लगन और दृढ संकल्प से बेहद आसानी के साथ, कभी भी और कोई भी सीख सकता है।
    2. English Speaking को आप किसी English सिखाने वाली Book, किसी वेबसाईट या फिर अगर आप चाहें तो किसी Mobile App से भी आसानी से सीख सकते हैं।
    3. एक अच्छी Fluent English Speaking आप कभी भी 1-2 दिन में नहीं सीख सकते है। इसे सीखने के लिए Minimum 2- 3 Months का Time तो लगेगा ही। या फिर किसी इन्सान को इसके लिए इससे भी ज्यादा का Time लग सकता है। इसलिए अपने अंदर Patience बनाएं रखकर ही इसे सीखें।
    4. Starting में आपको काफी ज़्यादा Problems आएँगी। आपका Confidence का Level तक कम होगा। लेकिन आपको डटे और लगे रहना है।
    5. आपको इसकी तैयारी Daily Basis पर करनी होगी और इसे एक तरह की Habit बना लेना होगा।

    निष्कर्ष (Conclusion) :

    आज के इस Article अंग्रेजी (English) बोलना कैसे सीखें? के अंदर मैंने आप सभी को How To Learn Fluent English Speaking – Hindi के बारे में बताया है, की जो जो लोग एक Fluent English Speaking को सीखना चाहते हैं और इसे अपने Career या Personal Growth के लिए Use करना चाहते हैं तो आप इसमें बताए गए इंग्लिश बोलना सीखने के लिए 10 BEST तरीके भी अच्छी तरह से समझकर अपने Life में ज़रूर से उतार सकते हैं,

    जो की आप सभी को एक Fluent English Speaking या कहें तो अच्छी अंग्रेज़ी (English) बोलने में खूब मदद करेगें।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *