Home » How To Handle Rejection | रिजेक्ट होने के बाद क्या करना चाहिए?

How To Handle Rejection | रिजेक्ट होने के बाद क्या करना चाहिए?

    रिजेक्ट (Reject) होने के बाद क्या करना चाहिए? | How To Handle Rejection In Hindi | Agar Kabhi Reject Ho Jaye To Kya Karen – किसी भी काम के अंदर या किसी के भी Through अस्वीकार (Reject) किया जाना आखिर किसको पसंद होता है? Maybe किसी को भी नहीं। इस दुनिया में हर एक व्यक्ती यही सोचता है कि उसे कभी भी, किसी भी Work में या किसी भी बात के कारण से या किसी के भी Through Reject बिल्कुल भी ना होना पड़े। लेकिन असलियत तो ये है कि हर किसी को अपनी Life में कभी ना कभी तो Rejection का सामना तो करना ही पड़ता है और कई बार तो हमें अपनी जिंदगी में ये Rejections बार बार मिलते ही जाते है, Reject होने के कारण चाहे कोई भी हो सकते हैं, चाहे वो किसी को Job में Rejection मिला हो, प्यार-मोहब्बत के अंदर Rejection मिला हो, अपने Relations में Rejection Face करना मिला हो, या फिर चाहे किसी और Work के अंदर ही आपको Rejection क्यों न मिला हो, क्योंकी किसी भी चीज़ में Reject होना हमेशा दुखदाई ही होता है। कभी–कभी तो Reject होना काफी लोगों के लिए Embarrassment से भरा भी हो जाता है।

    जब इंसान काफी बार किसी से या किसी चीज़ के अंदर Reject होता चला जाता है तो उसके अंदर का मनोबल टूटने लग जाता है, Confidence भी कम होने लगता है, मन में Negative Thoughts आने लग जाते हैं। जिससे वह तंग और काफी ज्यादा दुखी भी हो जाता है और कभी कभी तो कुछ लोग Depression तक का शिकार भी काफी आसानी से हो जाते है। Reject हो जाने पर लोग अधिकतर ये सोचने लगते हैं कि उनके अंदर कुछ न कुछ कमी है या उनमे किसी भी काम को करने की Ability ही नहीं हैं जो की काफी ज्यादा गलत बात है और ये अपने मन में गलत विचारों का ढेर जमा कर लेते हैं। और अपने Mind के अंदर ऐसी बाते बैठा लेते हैं कि अब उनसे कोई भी काम बिल्कुल भी नहीं हो सकेगा, या अब वे कुछ नहीं कर पाएंगे या अब वे कभी भी अपनी Life में Successful नहीं हो सकते और फिर वे जो Hard Work कर रहे होते हैं उसे भी करना बंद कर देते हैं, या अपनी Life में आगे बढ़ने के लिये कोशिशें करना भी बन्द कर देते हैं।

    वहीँ दूसरी ओर कुछ लोग ऐसे भी ज़रूर से होते हैं जो की अपनी Life के हर Rejection का सामना पूरी हिम्मत के साथ करते हैं और न ही कभी हार मानते हैं ये अपनी Life के अंदर हमेशा से आगे बढ़ने के लिये अपनी जी जान से पूरी कोशिश करते रहते हैं और तब तक कोशिश करते रहते हैं जब तक की ये Succeed नहीं कर जाते, और End में ऐसे लोग हमेशा ही Successful भी होते हैं।

    इसीलिए आज के इस Article के अंदर मैं आप सभी को रिजेक्ट (Reject) होने के बाद क्या करना चाहिए? यानी How To Handle Rejection In Hindi के बारे में बताया है जिसमें की आप Agar Kabhi Reject Ho Jaye To Kya Karen इसके बारे में काफी अच्छी तरह से Clearly समझेंगे और इसमें बताए जानें वाले Best तरीकों से अपनी Life में चार चांद लगा सकते हैं।

    How To Handle Rejection
    How To Handle Rejection

    Table of Contents

    रिजेक्ट (Reject) होने के बाद ये 9 BEST तरीके अपनाएं |  9 Best Ways To Do After You Get Rejected By Someone In Hindi 

    ध्यान रखें Rejection Life का ही एक Part है:

    जब कभी भी आपको आपकी Life में Rejection Face करने को मिले हमें उसके लिए कभी भी घबराना नहीं चाहिये और ना ही ज्यादा Disappoint या Sad होने की ज़रूरत है, हमेशा एक बात अपने Mind में रखो की Rejection आपकी Life का ही एक हिस्सा है। ये हमें बहुत कुछ सिखा देता है। अगर आप कभी भी Reject नहीं होगें, तो ऐसे में आपको बहुत सी चीजों का, बहुत सी बातों की Knowledge को पाने में Unable ही रह सकते हैं। बहुत सी चीज़ों की Feeling हमें Reject हो जाने के बाद ही हो पाती है। Reject होने से लोगों की Thinking भी Change होने लग जाती है, नये Experiences मिलते हैं, नये Lessons मिल पाते हैं। हमें हमारे अंदर की Weaknesses के बारे में भी पता चल पाता है। जिससे हमारी Life पहले से भी कई बेहतर हो जाती है।

    हमेशा एक Positive Mindset को रखें:

    अगर कभी भी आप अपनी Life में Rejection का शिकार होते हैं तो सबसे पहला और सबसे ज़रूरी काम आपको करना चाहिए, वो है अपने अंदर हमेशा एक Positive Mindset को रखना यानी की हमेशा अपनी Thinking को Positive बनाएं रखना। क्योंकि हमारी Thinking से ही हमारी Life की Condition और Direction तय हो पाती है।

    अगर हमारा Mindset Negative होगा, तो हम हमेशा ही Sad और तरह-तरह की Problems में ही डूबे रहेंगे, या Problems से घिरते ही चले जायेंगे और Last में बिल्कुल ही टूट कर बिखर जायेंगे और अपनी Life में कुछ भी हासिल नहीं कर पायेंगें।

    लेकिन वहीं दूसरी ओर अगर हमारा Mindset Positive होगा तो हमें अपनी Life में आगे बढ़ने के नये नये रास्ते अपने आप ही मिलते चले जाएंगे, हर Problem का हल अपनें आप ही निकलता चला जाएगा, और rejection को handle करने में मदद मिलेगी।

    इसलिये कभी भी आपको Reject होने पर Sad या दुखी नहीं होना है, बल्की इसके बजाय खुद को आपको अपने आप से ये कहना होगा की कोई बात नही अगर Rejection मिल भी गया तो क्या हुआ ये नहीं तो कोई और सही, इस बार नहीं हो पाया तो अगली बार सही। फिर आप खुद से ये कह कर पूरे Hard Work के साथ अपनी अगली कोशिश के लिये पूरे जी जान के साथ जुट जाओ। फिर देखना अपने अंदर के Positive Mindset का असर।

    खुद को Analyze करें:

    अगर आप कभी भी किसी भी काम के अंदर Reject हो जायें या कोई इंसान आपको किसी भी वजह से Reject कर दे तो उस समय आपको निराश या परेशान नहीं होना है, बल्की इसके बजाय खुद को Analyze करें। खुद के बारे में सोचे कि आपसे कहाँ पर गलती हो गई, या आपके भीतर ऐसी कौन सी कमियाँ थी जिनके कारण से आपको Reject होना पड़ा और अगर आप सच्चाई और पूरी ईमानदारी के साथ खुद को Analyze करेंगे तो आप ढूंढेंगे कि असल में आपके अन्दर कुछ न कुछ कमी तो थी ही, या सच में कहीं पर आपसे कुछ न कुछ गलती तो हुई ही है जिसके कारण से आपको Rejection को Face करना पड़ा। बस जब आपको अपनी वो गलती या कहे तो अपनी वो कमी मिल जायें तो ऐसे में आपको उन्हें दूर करके फिर से Try करने में जुट जाना होगा और तब तक जुटे ही रहना होगा जब तक कि आप Successful ना हो जायें, या कहें जब तक की आप जीत ना जाएं।

    Rejections को अपने दिल से लगाकर ना बैठो:

    अगर आपको आपकी Life के किसी भी मोड़ पर Rejection को Face करना पड़ता है तो ऐसे में कभी भी उस Rejection को अपने दिल से बिल्कुल भी ना लगायें। और ना ही बार-बार उसके बारे में सोचें। अगर आप बार बार उसके ही बारे में सोचते हैं तो ऐसे में आप पहले से ज्यादा परेशान रहेंगे। अपने Rejections को लेकर खुद से थोड़ी अलग Thinking के साथ सोचें। सोचे की आप से अलग भी एक World है। उस एक World से अपने Connections को जोड़े। नए-नए लोगों से मिलें। नई जगहों पर Visit करें। अपने Mind को अच्छे और नये कामों के अंदर लगाएं।

    “लोग क्या सोचेंगे” ये सोचना बन करें:

    काफी बार हम लोग जब Reject हो जाते हैं तब ऐसे में हम खुद को दूसरों की नजरों से देखने लग जाते हैं की बाकी लोग आपके बारे में क्या सोच रहे होंगे और हम ये समझने लगते हैं कि असल में हमारे अंदर कमियाँ हैं। अगर कोई आपको Reject कर देता है तो कभी भी इसका ये मतलब नहीं होता कि आप खुद को उस सामने वाले इंसान की ही नजर से देखने लगेंगे। आपको अपने लिए अपनी एक अच्छी Image बनानी चाहिए और हमेशा अपनी Thinking को Positive रखना चाहिए। आपको Rejection को एक तरह का Experience के तौर पर और एक Opportunity की तरह लेना होगा। और हां ध्यान में रखें कि ऐसी Opportunities आपको आगे भी ज़रूर से मिलेंगी इसलिये उदास हो कर बैठ जाने की बजाय आने वाली Opportunity के लिये आपको अपनी कमर कस लेंनी चाहिए।

    Reject होने के लिए भी तैयार रहा करें:

    ध्यान रखा करे कि हर बात या हर Proposal के हमेशा दो ही जवाब होते हैं या तो हाँ या फिर ना और ये भी हमेशा जरूरी नहीं होता है कि आपको सदैव ही हाँ ही सुनने को मिले। आपको हमेशा Job के अंदर, Interview में, अपने प्यार का इजहार करने पर, या शादी का Proposal देने पर या किसी भी तरह के काम के अंदर हाँ ही सुनने को नहीं मिलेगा। कभी कबार आपको ना सुनने को भी ज़रूर से मिल सकता है। फिर ये मायने नही रखता है की आप उस काम के अंदर कितने ही काबिल क्यूं न हों? इसलिये हमे हमेशा से ही हर काम से पहले उसकी हाँ और ना यानी की Positive और Negative Side दोनों के लिये पूरी तरह से Ready रहना चाहिए।

    नई चीज़ों को सीखना शुरु करें:

    जब कभी भी आप Reject हो जाएं तो ऐसे में अफ़सोस करने या उदास होने की बजाय अपनी अंदर की कमियों के बारे में पता लगायें और उन्हें सुधारने की कोशिश करें। नई-नई चीज़ों को सीखना शुरु कर दें, कोई नई Language सीखें, नया Course करें। अपनी Knowledge को Increase करें, अपने अंदर की Skills को Grow करें। जिससे की आप Future में फिर से Reject ना हो सके क्योंकी नई – नई चीज़ों को सीखना शुरु करने से आपका Mind Rejections से हटकर आपको एक नई Direction में ला देगा, जिससे की ना सिर्फ आपके अंदर की दुःख और परेशानियां कम होगी बल्कि आपकी Knowledge में भी Growth होना शुरु हो जाएगी।

    Motivational और Inspirational Content देखें व पढ़ें:

    अगर आपको भी ऐसा लगता है की आप काफी बुरी तरह से Reject हो चुके हैं, और अब आपका Mind आपसे बस यही बाते बोल रहा है की अब आप कुछ नही कर सकते हैं, जो कुछ था वो आपने खो दिया है तो ऐसे में अपने Mind की बाते सुनने की बजाए आपको इससे अलग कुछ सोचना शुरू करना होगा, जिसमें की आप कुछ तरह के Motivational और Inspirational Content यानी की देख और पढ़ दोनो सकते हैं, जिससे की जब कभी भी आप अपनी Life में Reject हो जाया करेगें तब उस Situation में आप इनसे अपने अंदर की निराशा को खत्म कर सकते हैं, और कुछ कर गुजरने का एक अलग ही प्रकार का हौसला आपके अंदर Develop होता चला जाएगा, कुछ Motivational Speakers की बाते सुनें, ऐसे लोगों की Life Stories के बारे में जाने जिन्होंने आपसे भी बड़ा Rejection अपनी Life के अंदर Face किया था लेकीन उसके बावजूद भी आज वो एक Successful Personality है, For Example आप लोग KFC के Founder Colonel Sanders की Success Story पढ़ सकते हैं जिसमें की आपको जानने को मिलेगी की कैसे KFC के Founder Colonel Sanders ने 1,009 बार Reject होने के बावजूद भी हार नहीं मानी और कैसे वो लगातार Try करते रहे और आज इतनी बड़ी Company खड़ी कर दी।

    याद रखें आगे बढ़ते रहने का नाम ही ज़िंदगी है:

    हमेशा आपको ध्यान रखना चाहिए की Rejection कभी भी आपकी Life का End नहीं है। जब कभी भी आप एक Place से Reject हो जाते हैं तभी दूसरी कई Place पर आपके लिए नए-नए अवसर खुलते जाते हैं। Rejection कोई या किसी भी तरह का End नहीं हैं बल्कि ये तो अभी एक Starting है नए-नए अवसरों को तलाश कर उन्हे अपनी Life में लाने का और अपनी ज़िंदगी के अंदर आगे बढ़ने का। हर तरह की Rejection हमें कुछ ना कुछ तो सिखाती ही है, हमेशा एक सबक देती ही है। जिससे की हमारे अंदर की Thinking Ability बढ़ती है, Decision लेने की Capacity बढ़ती है। हम हर बार पहले से ज़्यादा Mature होते चले जाते हैं। इसलिये अपनी Life में आई Rejections से कभी उदास और परेशान नहीं होना चाहिए। अपनी Life में आगे बढ़ने के लिये Try करते रहिए। Hard Work करते रहें और तब तक करते ही रहें जब तक की आप Success को ना हासिल कर लें, यानी की जब तक की आप जीत ना जाएं।

    आइए अब लोग हमें Reject क्यों कर देते हैं? या Reasons Why People Reject Us – HINDI के बारे में समझ लेते हैं

    लोग हमें Reject क्यों कर देते हैं? | Reasons Why People Reject Us – HINDI

    जब हमारा व्यवहार दूसरों को Irritate कर देता है:

    लोग कभी-कभी हमारे व्यवहार के कारण हमें अस्वीकार (Reject) कर देते हैं जो हम उनके साथ अपनी बातचीत में Show करते हैं। जब लोग आपके साथ Uncomfortable महसूस करते हैं, तो वे Easily खुद को Irritate होने का अनुभव करने से रोकना चाहते हैं। और उनके पास इसका Clear Solution खुद को हमारी Presence से दूर करना ही होता है।

    इसका Result यह होता है कि हम Last में इस तरह से लोगों के द्वारा Rejected किए जाने का अनुभव करते हैं।

    जब हम दूसरों की उम्मीदों पर खरे नहीं उतरते:

    लोग अपने खुद की, Values या विश्वास के कारण हमें Reject भी कर सकते हैं। यहां मैं उन Situations के बारे में बात कर रहा हूं जहां किसी और को हमसे कुछ उम्मीदें हैं जो हम पूरी ही नहीं कर पाते हैं अगर आप भी चाहते हैं की लोग आपको Reject ना करें तो आपको उनकी उम्मीदों पर खरा उतरना पड़ेगा।

    यह ना जानना कि Rejection का जवाब कैसे दिया जाए:

    यह पहचानना हमेशा आसान नहीं होता है कि क्या Rejection से कुछ सीखना है, या यदि Rejection केवल किसी और की अधूरी Expectations का परिणाम है। लेकिन इन दोनों के बीच Difference तब और Clear हो जाता है जब हम अपने व्यवहार के बारे में Self-Awareness विकसित करते हैं और वे दूसरों को कैसे प्रभावित करते हैं। किसी भी तरह से, Rejection के कारणों को समझना इसका समाधान निकाल सकता है, क्योंकि यह मायने नहीं रखता है कि हम कौन हैं; यह इस बारे में है कि हम क्या कर रहे हैं। और हम या तो अपने Choices को बदलने के लिए काम कर सकते हैं, या यह पहचान सकते हैं कि कोई और उन्हें Accept करने में असमर्थ है, और यह पूरी तरह से उन पर निर्भर है।

    उन्हें हम पर भरोसा (Trust) नहीं होता है:

    आज के वक्त में भरोसा (Trust) एक बहुत बड़ी चीज़ है, जिसे कमाने के लिए नजाने लोगों को कितने ही पापड़ बेलने पड़ जाते हैं, जब कभी किसी Job Interview में आप Interview देने जाते हैं तो सामने बैठा Interviewer अपने Mind में यही एक बात सोचता रहता है या आपके अंदर Analyze करता रहता है की क्या वो आप के ऊपर भरोसा कर सकता है क्या आप इस Job के लिए Capable भी हैं, अगर आप इस Situation में रहकर Interviewer का भरोसा जीत लिया तो आपको वो Job काफी आसानी के साथ मिल जाएगी लेकिन यदि नहीं तो वो आपको Reject भी कर सकता है, इसीलिए लोगों के अंदर Trust Build करना भी बेहद ज़रूरी काम है जिससे की वो आपको Accept कर सके।

    अगर आप एक Negative Person हैं:

    क्या आप भी एक Negative इंसान हैं, क्या आपकी भी हर छोटी से छोटी बातों में Negativity को ढूंढ निकालते रहने की आदत बनी हुई है अगर हां तो बस अब समझ लीजिए की आप भी वही इंसान है जिसे लोग एक दम ही Reject कर देते हैं, क्योंकि अक्सर एक Negative इंसान के साथ रहना कोई भी पसंद नहीं करता है, आप खुद ही सोचिए न की अगर आपके पास कोई आए और बिना मतलब ही आपके अंदर की अच्छी चीज़ों में भी कमियां निकालना शुरू कर दे, या आपके आगे सिर्फ Negative Thoughts ही रखे तब आप भी तो ऐसे इंसान से तंग आ ही जाएंगे और चाहेंगे की कैसे न कैसे कर के आप उससे दूर हो जाएं,

    इसीलिए अगर आप नहीं चाहते की कोई ओर आपको Reject कर दे तो आपको अपने अंदर Positive Thinking को Create करना होगा, इससे आप लोगों के दिल को अधिक आसानी के साथ जीत पाओगे और उनकी नजरों में Accept भी हो सकोगे।

    निष्कर्ष (Conclusion):

    आज के इस लेख रिजेक्ट (Reject) होने के बाद क्या करना चाहिए? यानी की How To Handle Rejection In Hindi के अंदर मैंने आप सभी को समझाया कि Rejection एक Life का Part है अगर कभी भी आपको आपकी ज़िंदगी में Rejection Face करनी पड़ जाए तो उस Time पर आप क्या कुछ कर सकते हैं, यकीन मानिए Reject हो जाना या कभी भी Life में किसी भी तरह से Fail हो जाने से कुछ नही होता है, बल्की आपको आपकी Life में एक नया Experience मिल पाता है, और सिर्फ इतना ही नहीं Reject होने की वजह से आप अपनी ज़िंदगी में काफी कुछ सीख भी जाते हैं, जिन्हें समझ कर और अपनी Life में अपनाकर आप काफी कुछ Achieve कर सकते हैं, ये तो बस कुदरत का तरीका ही होता है की वो आपको एक सही राह दे सके जिससे की आप समझ सकें, आज के इस लेख में बताई गई सभी बातों को और लोग हमें Reject क्यों कर देते हैं? के अंदर बताई गई चीज़ों को समझेंगे तो आप देखेंगे कि अगली बार आपको लॉग Accept करे बगैर रह ही नहीं पाएंगे

    इन सब बातों के साथ आज का ये Article सिर्फ यहीं तक ही था मैं उम्मीद करता हूं की आपको ये Article बेहद पसंद आया होगा, इसीलिए अब आप मुझसे अपने सभी सवाल नीचे Comment करके ज़रूर से पूछ सकते हैं, और साथ ही अगर आप मुझे किसी प्रकार की कोई सलाह भी देना चाहते हैं तो वो भी दे सकते हैं, मैं आप सब के सवालों के सटीक जवाब देने की पूरी कोशिश करूंगा।

    इसे पढ़े: जिंदगी को बदल देने वाली आदतें
    इसे पढ़े: रिजेक्ट होने के बाद क्या करना चाहिए?
    इसे पढ़े: Best Inspired Quotes in Hindi
    इसे पढ़े: ज्यादा सोचना कैसे बंद करे?

    Leave a Reply

    Your email address will not be published.