Skip to content

गैस की प्रॉब्लम को कैसे दूर करे हमेशा के लिए? | गैस होने के कारण

    क्या आप लोग भी Gas Ki Problem Kaise Dur Kare? के बारे में ही खोज रहें हैं, अगर हां तो मैं आप को बता दूं की मैं भी आज आपको इस Article – Gas ki Problem ko kaise dur karen के अंदर Gas ki Problem ko dur karne ke upay के बारे में ही बताने वाला हूं, गैस की दिक्कत एक अत्यंत परेशानी वाली समस्या है। यहां तक की भारतीय आबादी के लिए, ये एक सामान्य और रोजमर्रा की समस्या बन चुकी है। क्योंकि यहां पर मौजूद लोग और उनके स्वाद मसालेदार खान-पान के आदी हो चूके हैं, जिसकी वजह से लोग जो कुछ भी दिख जाए वही खाना शुरू कर देते हैं। बिना इस बात का ध्यान करे की जो हम खा रहें हैं ये हमारे शरीर पर किस तरह से असर करेगा, हमे तो बस अपनी उस जीभ को संतुष्ट करने से मतलब होता है।

    वहीं दूसरी ओर हमारे लिए ये समझना बेहद ही जरूरी है कि पेट दर्द हमेशा गैस की समस्या नहीं होती है, इसलिए इसे गंभीरता से लें। जी हां, आप अपनी Gas की Problem को ठीक करने के लिए कुछ बेहतरीन तरीकों को आजमा सकते हैं।

    Pet ki Gas ko khatam karne ke Tarike के बारे में जानने से पहले मैं आप सभी को गैस की परेशानी के कारण के बारे में बताने वाला हूं, क्योंकि काफी सारे लोगों की ये शिकायतें होती हैं की वे ऐसा क्या कर रहें है जिसकी वजह से उनको ये पेट में गैस बनने की परेशानी का सामना करना पड़ता है। उसके लिए आपको सिर्फ इस Article Gas Ki Problem Kaise Dur Kare? को बिल्कुल अंत तक पढ़ना होगा, और आपको आपके सभी सवालों के जवाब आसानी से मिलते चले जाएंगे,

    Gas Ki Problem Kaise Dur Kare
    Gas Ki Problem Kaise Dur Kare

    Gas ki Problem kyu ho jati hai | Gas ki Problem ke Karan in Hindi

    ज़्यादा नमक की वजह से

    आपके शरीर को इसकी जरूरत है, लेकिन हम में से ज्यादातर लोगों को ये जरूरत से ज्यादा मिलता है। यह आपके अंदर के पानी को अपने पास बनाए रखता है। और जो की High Blood Pressure जैसी गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बन सकता है। जिससे की आपको बचना चाहिए। ज्यादातर लोगों के खाने में नमक पहले से पैक और फास्ट फूड से आता है। इसीलिए किसी भी Ready to Eat खाने की Item को खाने से पहले उसके अंदर मौजूद नमक की मात्रा की जांच कर लें।

    अगर आप Overeating करते हैं

    क्या आपको मालूम है की आपका पेट केवल आपकी मुट्ठी के आकार का है। इसके अंदर अगर आप ज़्यादा खाना भरेंगे तो ये खीच कर आपको थोड़ी Extra जगह तो दे सकता है, लेकिन ऐसे में यह आपको फूला हुआ महसूस कराएगा, खासकर अगर आप बहुत ज़्यादा नमकीन खाना और Carbohydrate बहुत अधिक मात्रा में लेते हैं तो। एक टिप यह है कि आप अपने पेट को पूरी तरह से भरा हुआ महसूस करने से पहले ही खाना बंद कर दें पेट पूरा फुल भर के खाना न खाएं।

    सोडा का सेवन

    सोडा और बीयर, शैंपेन या सेल्टज़र जैसी Drinks में बुलबुले गैस से भरे होते हैं। जब आप इन्हें पीते हैं, तो ये आपके पाचन तंत्र को भर सकते हैं। आप इसमें से कुछ को निकाल सकते हैं, लेकिन एक बार जब गैस आपकी आंतों में पहुंच जाती है, तो ये तब तक रहती है जब तक आप इसे पास नहीं कर देते। और ज्यादातर सोडा चीनी से भरे होते हैं, जो आपकी पानी पर पकड़ बना सकते हैं और फूला हुआ महसूस कर सकते हैं।

    बहुत तेजी से खाना खाना

    अगर आप बहुत तेजी से खाना खाते है तो आपने जो खाया है वो सही तरीके से पाचन नहीं हो पाता है जिससे पेट में गैस बनती है

    Fat को ज्यादा मात्रा में ले लेने से

    आपके शरीर को Cell Wall, Nervous Tissue और Hormones बनाने के लिए इसकी काफी ज़रूरत होती है। लेकिन ये बहुत अधिक आपको फूला हुआ बना सकता है क्योंकि आपका शरीर दूसरे तरह के भोजन की तुलना में इसे तोड़ने में अधिक समय लेता है। इसका मतलब है कि यह लंबे समय तक टिका रहता है। यह कैलोरी में भी High होता है और अगर आप सावधान नहीं हैं तो आपका वजन बढ़ सकता है, और इससे आपको काफी फूला हुआ भी महसूस हो सकता है।

    कब्ज का रहना

    कब्ज होने के कई कारण है सही तरसे भोजन न करना, पानी कम पीना, सही तरह से नींद न लेना, टाइम पर खाना नहीं और जंक फूड जो भी चीज हो वो खा लेना, खाना सही तरह से चबाकर ना खाना, खाना खाने के बाद सो जाना, कसरत न करना, कम चलना ओरभी कई कारन है कब्ज होने के और कब्ज़ होने से पेट में गैस बनना

    Gas ki Problem se kaise Chutkara paye | Gas Ki Problem Kaise Dur Kare

    अजवायन का इस्तेमाल

    यह भारत में अपच की समस्या के लिए एक प्रसिद्ध घरेलू उपचार है। आप इसे या तो सीधे खा सकते हैं या आप इस को रात भर भिगोकर सुबह खाली पेट पी सकते हैं। इससे आपकी गैस की समस्या से निजात मिलेगी।

    नींबू का इस्तेमाल

    नींबू में Anti-Inflammatory और  Anti-Oxidative गुण होते हैं अगर आप भी Gas ki problem ho to kya karen? के लिए खोज रहें हैं तो इसके इलाज में नींबू आपकी काफी मदद करते हैं। एक गिलास पानी में आधा नींबू मिलाकर इस मिश्रण को पी लें। ऐसा आप दिन में एक से दो बार कर सकते हैं।

    हींग का इस्तेमाल

    यह आंतों के रास्ते में अग्नाशय, गैस्ट्रिक और लार के रस के स्राव में मदद करती है। यह सूजन और पेट फूलना जैसे लक्षणों को प्रबंधित करने में भी आपकी मदद करके गैस की समस्या को दूर करती है।

    अदरक का इस्तेमाल

    अदरक न केवल खांसी और सर्दी के इलाज में मदद करता है बल्कि गैस की समस्या के लिए भी अच्छा है। यह सूजन को कम करता है और मतली को कम करता है जो अम्लता के लक्षण हैं। या तो इसे अपनी चाय में शामिल करें या सीधे इसका सेवन भी कर सकते हैं।

    नारियल पानी का इस्तेमाल

    यह स्वस्थ पाचन तंत्र के लिए एक बेहतरीन Drink है। नियमित रूप से नारियल पानी पीने से शरीर में Electrolyte संतुलन बनाए रखने में मदद मिलती है और इसलिए, आपका रक्तचाप नियंत्रण में रहता है।

    धूम्रपान छोड़ें और शराब का सेवन बंद करें

    धूम्रपान से Acid Reflux होता है जो पाचन समस्याओं को बढ़ा सकता है जिसके परिणामस्वरूप गैस की समस्याएं हो सकती हैं। यहां तक ​​कि अधिक शराब भी पाचन तंत्र को परेशान करती है। शराब के कारण पेट की परत में सूजन हो जाती है जिससे उल्टी, सिरदर्द और मतली होती है।

    खाना न छोड़ें और दिन में 5 बार छोटी Diet लें

    खाली पेट गैस या Acidity की समस्या हो सकती है। साथ ही भारी भोजन करने के बजाय दिन में 5 बार छोटे-छोटे भोजन करें। ऐसा कहा जाता है, “नाश्ता राजा की तरह, दोपहर का भोजन राजकुमार की तरह और रात का खाना भिखारी की तरह खाओ”। दही, मौसमी फल, सब्जियां, अंडे खाएं और जंक, तला हुआ और मसालेदार खाना कम करें।

    अपनी नींद से समझौता न करें

    नींद की कमी पाचन तंत्र के सही तरह से Functioning को बाधित करती है। इसलिए शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ रहने के लिए आपको 7-8 घंटे की नींद जरूर से लेनी ही चाहिए।

    गैसकी परेशानीको दूर करने के लिए योगासन

    वज्रासन

    यह बहुत अधिक अम्लता के मामले में काम करता है। इसका अभ्यास आप लंच या डिनर के बाद भी कर सकते हैं। वज्रासन का अभ्यास पेट के निचले हिस्से में Blood Circulation में सुधार करता है और पाचन अंगों को उत्तेजित करता है जिससे पाचन में सुधार होता है, अत्यधिक गैस से राहत मिलती है और Acidity और पेट के अल्सर से बचाव होता है। यह मुद्रा जांघों, पैरों, पीठ के निचले हिस्से और मांसपेशियों को मजबूत करती है।

    पवनमुक्तासन

    यह गैस की समस्याओं और खराब पाचन के लिए सबसे अच्छे योगों में से एक है। इसमें Lower Body Twist शामिल है जो पाचन तंत्र को बेहतर बनाने में मदद कर सकता है। कब्ज की समस्या, जो मुख्य रूप से अनुचित पाचन के कारण होती है, गैस की परेशानी गैस मुक्त करने वाले आसन या पवनमुक्ता आसन को अपने रोज के जीवन का हिस्सा बनाने से हल हो जाती है।

    बालासन

    इसे बाल मुद्रा के रूप में भी जाना जाता है, जो की Circulation को सामान्य करता है। यह कब्ज और Acidity से राहत प्रदान करने वाले आंतरिक अंगों की मालिश करता है। बालासन मतली के लक्षणों से राहत देता है और धीरे-धीरे पाचन को शुरू करने के लिए उत्तेजित करता है। यह गैस के दर्द को भी दूर कर सकता है।

    निष्कर्ष (Conclusion)

    आज के इस Article – Gas Ki Problem Kaise Dur Kare? के अंदर मैंने आप सभी को Pet ki Gas ko khatam karne ke Tariko के बारे में बताया, अगर आपको भी गैस की समस्या है, तो अपने आहार और जीवनशैली को देखें कि आप क्या बदलाव कर सकते हैं। जो की ऊपर बताई ही गई हैं। कई मामलों में, जीवनशैली और आहार में बदलाव इस मुद्दे को पूरी तरह खत्म करने में सक्षम हो सकते हैं।

    लेकिन अगर आपको कई हफ़्तों की जीवनशैली और आहार में बदलाव के बाद भी कोई अंतर नज़र नहीं आता है, तो अपने डॉक्टर से संपर्क करें। वे यह देखने के लिए Testing कर सकते हैं कि क्या आपके लक्षण किसी Medical Condition के कारण हैं।

    इसे पढ़े:

    रात को खाना खाने के बाद चलने के हैरान कर देने वाले फायदे
    गर्मी से बचने के 10 बेहतरीन उपाय
    बेस्ट लाइफ कोट्स
    Motivational Quotes in Hindi by Great Personalities
    Heart Touching 2 Line Shayari

    Leave a Reply

    Your email address will not be published.