Skip to content
Home » Draupadi Murmu Full Biography in Hindi | Life Achievements

Draupadi Murmu Full Biography in Hindi | Life Achievements

    Draupadi Murmu Full Biography in Hindi | Draupadi Murmu ke bare mein Jankari Family, Husband, Daughter, Sons, Caste, Age, Education Qualification,- NDA की राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू आज के समाचार मीडिया में सुर्खियों में हैं और हर कोई इन्हीं की चर्चा कर रहा है और Draupadi Murmu Biography in Hindi और Draupadi Murmu Kaun hain? के बारे में ही जानना चाहते हैं। राम नाथ गोविंद के इस साल तक राष्ट्रपति पद का कार्यकाल पूरा करने के बाद मुर्मू अब राष्ट्रपति बनने की राह पर चलेंगी। भाजपा और उनके गठबंधन ने पहली आदिवासी महिला को नियुक्त करके एक ऐतिहासिक रिकॉर्ड बनाया है। NDA के सभी नेता इस दमदार Leader का स्वागत कर रहें हैं और मुर्मू को भारत के 15वें राष्ट्रपति के रूप में देखने के लिए बेहद उत्साहित हैं।

    संसद बोर्ड की बैठक में UPA के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा के विरोध में अगले राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के नाम की घोषणा की गई. NDA द्वारा राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार की घोषणा के बाद BJD भी राष्ट्रपति चुनाव के लिए द्रौपदी मुर्मू का समर्थन कर रही है। इसीलिए आज के इस Article – Draupadi Murmu ka Jivan Parichay in Hindi के अंदर मैं आप सभी को Draupadi Murmu Biography in Hindi के बारे में बताने जा रहा हूं, अगर आप भी भारत की अगली और पहली आदिवासी समुदाय की राष्ट्रपति के बारे में जानना चाहते हैं तो इसे बिल्कुल अंत तक पढ़ते रहें,

    Draupadi Murmu ki Biography

    Draupadi Murmu Biography in Hindi
    Draupadi Murmu Biography in Hindi

    भारत की पहली आदिवासी महिला अब 15वीं राष्ट्रपति बनने जा रही हैं। NDA ने आदिवासी समुदाय से श्रीमती द्रौपदी मुर्मू को उठाकर सभी लोगों को उभारा और ऐतिहासिक रिकॉर्ड बनाया, BJD ने चुनाव में उनका समर्थन किया क्योंकि वह उड़ीसा राज्य से आई थीं और शासन में उनके प्रशासन के तहत एक महान नेतृत्व था।

    वह भारतीय जनता पार्टी को अपने राजनीतिक जुड़ाव के रूप में पहचानती हैं। भाजपा के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन ने उन्हें 2022 में राष्ट्रपति पद के लिए अपने उम्मीदवार के रूप में चुना है। उनकी पिछली स्थिति झारखंड के नौवें राज्यपाल के रूप में थी, जो उन्होंने 2015 से 2021 तक आयोजित की थी। उनका जन्म और पालन-पोषण भारत के ओडिशा राज्य में हुआ था। वह भारत के राष्ट्रपति के लिए नामित होने वाली अनुसूचित जनजाति से संबंधित पहली व्यक्ति हैं, जिन्होंने अपना पांच साल का कार्यकाल पूरा किया और फिर से चुनाव के लिए पात्र बन गईं।

    Draupadi Murmu ki Past Life

    द्रौपदी मुर्मू जी की जन्म की तारीख 20 जून है और वह 64 साल की हैं। उनका जन्म 1958 में हुआ था। वह पंचायती राज व्यवस्था द्वारा नियोजित ग्राम प्रधानों के परिवार से आती हैं।

    उनके पिता, बिरंची नारायण टुडू, मयूरभंज क्षेत्र के मूल निवासी थे और बैदापोसी गांव में रहते थे। उनका जीवन हमेशा चुनौतीपूर्ण और बाधाओं से भरा रहा । उन्हें न केवल समाज के अत्याचार से जूझना पड़ा, बल्कि उन्होंने कई व्यक्तिगत त्रासदियों और असफलताओं को भी सहा है। राज्य स्तर पर राजनीति में आने से पहले उन्होंने कुछ वक्त तक एक टीचर के रूप में भी काम किया।

    1997 में, द्रौपदी मुर्मू भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गईं। वह झारखंड की राज्यपाल का पद संभालने वाली पहली महिला थीं। इसके अलावा, वह पहली भारतीय महिला थीं जिन्हें एक आदिवासी मुखिया के रूप में इतना खास स्थान मिला था।

    द्रौपदी मुर्मू का राजनीतिक जीवन

    भारत के सबसे कम विकसित क्षेत्रों में रहते हुए द्रौपदी मुर्मू जी ने साल 1997 में रायरंगपुर नगर पंचायत के पार्षद के रूप में चुनकर अपनी राजनीतिक जीवन की यात्रा शुरू की। उन्होंने भाजपा पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष के रूप में भी काम किया। पार्टी में अच्छा काम करके वह आखिरकार झारखंड की राज्यपाल बनने वाली पहली आदिवासी बनने में सफल रहीं।

    उन्होंने Commerce और Transportation, मत्स्य पालन और पशु संसाधन विकास के लिए स्वतंत्र प्रभार के साथ राज्य मंत्री के रूप में भी काम किया। इसके अलावा, वह साल 2000 से 2004 तक 4 साल तक विधायक भी रहीं। विधायक बनने के बाद उन्हें उनके जबरदस्त काम के लिए नीलकंठ पुरस्कार भी मिला और साथ ही उन्हें पार्टी के सर्वश्रेष्ठ कार्यकर्ता और विधायक के रूप में भी दर्शाया गया।

    Draupadi Murmu ki Family aur Education

    द्रौपदी मुर्मू ने एक बैंक अधिकारी श्याम चरण मुर्मू से शादी की, जिनका 2014 में ही निधन हो गया। वह दो लड़कों और एक लड़की की मां हैं, जिनमें से एक का नाम लक्ष्मण मुर्मू था और 2013 में उनका भी निधन हो गया। उससे पहले 2009 में, उन्होंने अपने दूसरे बेटे को भी खो दिया था बेटी इतिश्री मुर्मू। मुर्मू ने एक Interview में कहा था कि वह अपने लड़कों की मौत के बाद काफी ज़्यादा Depression से झूंझने लग गईं थी। वह रमा देवी नाम के एक महिला कॉलेज से Bachelor’s Degree in Arts की शिक्षा भी प्राप्त कर चुकी है जो की भुवनेश्वर में है। द्रौपदी के पिता बिरंची नारायण टुडु एक किसान थे, जिन्हें उनके नाम से जाना जाता था। उनके माता-पिता और उनकी दादा-दादी दोनों ही समुदाय में मुखिया के पद पर आसीन थे। वह भगत टुडू और सरानी टुडू की बहन हैं, जो की उनके भाई हैं।

    Draupadi Murmu ki Life Achievements

    • साल 1997 ने द्रौपदी के राजनीतिक जीवन की शुरुआत हुई थी। जब वह ओडिशा के रायरंगपुर जिले के लिए एक पार्षद के रूप में सेवा करने के लिए चुनी गईं। उसी साल के दौरान, वह रायरंगपुर की उपाध्यक्ष भी थीं। वहां उनका कार्यकाल एक साल का रहा।
    • इसके बाद साल 2004 में रायरंगपुर सीट पर हुए विधानसभा चुनावों में उनकी जीत के बाद, वह बाद में भाजपा में मंत्री पद के लिए चुनी गईं। उन्होंने साल 2000 में परिवहन, व्यापार, मत्स्य पालन और पशुपालन विभाग में काम करना शुरू किया और वे साल 2004 तक वहां कार्यरत रही।
    • साल 2004 के विधानसभा चुनाव में वह विजयी हुई थीं और इस बार उन्हें रायरंगपुर सीट से भाजपा का प्रतिनिधित्व करने के लिए चुना गया था।
    • फिर कुछ साल बाद 2006 में, उन्होंने भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा के राज्य अध्यक्ष और मयूरभंज में भाजपा के जिलाध्यक्ष के रूप में सेवा करने के लिए चुनाव जीता। साल 2006 और 2009 के बीच, उन्होंने इस पद पर काम किया था।
    • उन्हें मई 2015 में झारखंड के नौवें राज्यपाल के रूप में सेवा देने के लिए चुना गया था और वह मई 2021 तक उस पद पर आसीन रहीं।
    • अब इस साल उन्हें 2022 के चुनावों में भारत के राष्ट्रपति पद के लिए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) द्वारा नामित किया गया है। और अब ये भारत की पहली आदिवासी महिला राष्ट्रपति के पद के लिए चुनी जा चुकी हैं।

    निष्कर्ष (Conclusion)

    आज के इस Article – Draupadi Murmu ka Jivan Parichay in Hindi के अंदर मैंने आप सभी को Draupadi Murmu Biography in Hindi, उनकी Past Life, राजनीतिक जीवन, परिवार और शिक्षा के बारे में काफी सारी ज़रूरी जानकारी प्रदान की है। साथ ही इनकी Life की कई Achievements के बारे में भी आज जानने को मिला। उम्मीद करता हूं की आपको इसमें बताई सभी बातें अच्छी तरह से समझ में आ ही गई होंगी।

    इसे पढ़े:
    Motivational Quotes in Hindi by Great Personalities
    Best Inspired Quotes in Hindi

    Leave a Reply

    Your email address will not be published.